blogid : 3327 postid : 126

शुभ कामना होली की

  • SocialTwist Tell-a-Friend

होली के पावन पर्व पर
आओ मिल सब गीत गायेँ
भेदभाव . छुआछूत भूल
एक सूत्र मेँ सब बँध जायेँ

प्रेमभाव से सब होली खेलेँ
रंग अबीर गुलाल बरसायेँ
आपस के सब झगड़े भूल
आज गले से सब लग जायेँ

जागरण जंक्शन टीम को
सभी ब्लागर्स को
और सभी पाठकों को
होली
की
शुभ कामना

## डा. मनोज रस्तोगी
मुरादाबाद , उ.प्र.

| NEXT



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 4.18 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Dr. monika sharma के द्वारा
March 26, 2011

 हार्दिक शुभकामनायें …

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    धन्यवाद

k saurabh के द्वारा
March 21, 2011

होली के इस पर्व पर प्रभु से मंगलकामना, ब्लागों से आप करें चुनौतियों का सामना | इस होली की सुगन्धित फुहारें मन में ऐसा संचार करें, ट्विटर और फेसबुक भी आपके ब्लागों का इंतज़ार करें |

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    भगवान आपकी मंगलकामना पूरी करे .प्रतिकिरिया के लिए धन्यवाद

Harish Bhatt के द्वारा
March 21, 2011

आदरणीय रस्तोगी जी सादर प्रणाम, आपको भी सपरिवार होली की ढेर सारी शुभकामनायें

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    बहुत बहुत धन्यवाद

baijnathpandey के द्वारा
March 20, 2011

आदरणीय रस्तोगी जी ….होली की ढेर सारी शुभकामनायें ……..दो मुठ्ठी प्यार भरे बारूद ( अबीर ) के साथ

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    शुक्रिया .

वाहिद काशीवासी के द्वारा
March 20, 2011

आदरणीय डॉ. साहिब, आपको भी होली के रंगोत्सव पर लख-लख बधाइयां…।

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    स्वीकार

Rajkamal Sharma के द्वारा
March 20, 2011

पुज्यनीय मनोज जी ….. पैरीपैना ! लता दीदी की एक पैरौडी प्रस्तुत है :- तुम्हे और क्या दूँ मैं बधाई के \”सिवाय\” कि तुमको हमारी \”नजर\” लग जाए ….. इस राज्कम्लिया हरकत को सहन कर लीजियेगा कहीं गुस्से में डिलीट मत कर देना ….. होली कि पिचकारी भर -२ के सपरिवार शुभकामनाये बुरा मत मानो होली है , कागज कलम दवात से दोस्तों संग हमने खेली है बधाई व् धन्यवाद

    Dr,Manoj Rastogi के द्वारा
    March 27, 2011

    राजकमल जी .आपकी पैरौडी से डर कर तुरंत लाल की जगह काली कमीज ही नहीं पहन ली ,चेहरे पर काला रंग भी लगा लिया था .


topic of the week



latest from jagran